48 साल पुराने एजेंडे पर चुनाव लड़ रही कांग्रेस, राहुल में दिख रही हार की हताशा: जेटली

0
15





नई दिल्ली. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कांग्रेस और राहुल गांधी पर निशाना साधा। जेटली ने कहा कि कांग्रेस और राहुल गांधी समय से 48 साल पीछे हैं। वे 2019 के चुनाव 1971 के एजेंडे पर लड़ रहे हैं, जबकि इतने समय में देश की सामाजिक और आर्थिक स्थिति काफी बदल चुकी है।

जेटली ने कहा कि राहुल गांधी में अब हार की निराशा दिखने लगी है, क्योंकि राफेल जेट सौदे और कारोबारियों के कर्ज माफी की फर्जी कहानी हवा हो गई है। चुनाव के दौरान कोई इन बातों को नहीं पूछ रहा। उनकी हताशा तब दिखाई देने लगी जब उन्होंने अरविंद केजरीवाल का खेल समझे बगैर दिल्ली में आम आदमी पार्टी को चार लोकसभा सीट ऑफर कर दीं।

हताशा में राज ठाकरे को सौंपी मोदी पर हमले की जिम्मेदारी

जेटली ने कहा कि राहुल की निराशा चरम पर तब पहुंच गई, जब उन्होंने और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री मोदी पर जुबानी हमलेका काम राज ठाकरे को दे दिया। वो भी बिना यह समझे कि इसका उत्तर प्रदेश, बिहार और बाकी उत्तरी राज्यों पर क्या असर पड़ेगा।

नकारात्मकता नहीं स्वीकार करेगा नया भारत

जेटली नेफेसबुक पर एक पोस्ट में कहा,“नया भारत सकारात्मकता का भारत है, यह राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, ममता बनर्जी और तेदेपा जैसी पार्टियों की नकारात्मकता को स्वीकार नहीं करता।”उन्होंने पोस्ट का शीर्षक दिया- क्या कांग्रेस ने हाथ खड़े कर दिए?

क्षेत्रीय दलों तक का सामना नहीं कर सकती कांग्रेस
पहले तीन राउंड की वोटिंग पर जेटली ने कहा कि भाजपा की सीटों में काफी उभार आना है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब क्षेत्रीय पार्टियों और भाजपा से मुकाबला नहीं कर सकती। जमीन पर जो स्थिति है उससे लगता है कि इस बार 2014 से बड़ा बहुमत आ सकता है। प्रधानमंत्री मोदी को पसंद करने वालों की 65-70% संख्या होना अभूतपूर्व है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Arun Jaitley jabs on Rahul Gandhi and Congress news and updates



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here