कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने 'आप की अदालत' में कहा, 'पाकिस्तान में घुस कर हम आतंकवादियों को फिर मारेंगे, लेकिन आम पाकिस्तानियों को नहीं'

0
1



नई दिल्ली: केंद्रीय कानून मंत्री और पटना साहिब से बीजेपी उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद ने आज कहा कि 'पाकिस्तान में घुस कर हम आतंकवादियों को फिर मारेंगे, लेकिन आम पाकिस्तानियों को नहीं। हम आतंकियों के कैम्प नष्ट करेंगे।' इंडिया टीवी के शो 'आप की अदालत' में रजत शर्मा के सवालों का जवाब देते हुए कानून मंत्री ने कहा; 'भारत एक शांतिप्रिय देश है, लेकिन अगर कोई भारत को छेड़ेगा तो हम छोड़ेंगे नहीं।'   पाकिस्तान के न्यूक्लियर ब्लैकमेल को खत्म किया रविशंकर प्रसाद ने कहा; 'हमने पाकिस्तान के न्यूक्लियर ब्लैकमेल को खत्म किया। अब हाफिज सईद और हत्यारा मसूद अजहर, सब टीवी से गायब है जो भारत को धमकियां देते थे। दो दिन के अंदर पाकिस्तान को विंग कमांडर अभिनंदन को लौटाना पड़ा। ये है भारत की ताकत।'   यह साहसी भारत है  उन्होंने कहा; 'हम आम पाकिस्तानियों को नहीं आतंकवादियों को फिर घर में घुसकर मारेंगे। आतंकवाद करोगे तो कार्रवाई होगी। ये नया भारतवर्ष है। मोदी की अगुवाई में यह साहसी भारत है। अब पूरी दुनिया भारत के साथ है और केवल चीन पाकिस्तान के साथ है। ये हमने करके दिखा दिया।' कानून मंत्री ने एक पूर्व वायुसेना अध्यक्ष का जिक्र करते हुए कहा कि 2008 में 26/11 मुंबई हमले के बाद तत्कालीन यूपीए की सरकार ने वायुसेना को पाकिस्तान के अंदर एयर स्ट्राइक की इजाजत नहीं दी थी।   दुनिया के देश सबूत नहीं मांग रहे पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना की एयर स्ट्राइक में हुए नुकसान के सबूत मांगने पर रविशंकर प्रसाद विपक्षी नेताओं पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा, 'अमेरिका, इंग्लैंड, जर्मनी, फ्रांस, इजरायल और रूस… पूरी दुनिया के देश सबूत नहीं मांग रहे हैं। क्योंकि वे जानते हैं कि क्या हुआ था। अगर कुछ नहीं हुआ था तो पाकिस्तान विदेशी पत्रकारों को वहां जाने क्यों नहीं दे रहा?'   कानून मंत्री ने कहा, 'अगर भारत के पास राफेल विमान होता तो हमें पाकिस्तानी वायुसीमा में घुसने की जरूरत नहीं थी, हम भारत से ही बालाकोट तक मिसाइल छोड़ सकते थे।'   राहुल देशहित के बारे में सोचें रविशंकर प्रसाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी जमकर बरसे और आरोप लगाया कि वे राफेल मुद्दे को बार-बार उठा रहे हैं, 'क्योंकि संजय भंडारी राहुल के अंतरंग बहनोई के मित्र हैं और वो यूरोकॉप्टर के लॉबिस्ट हैं। ये दो कंपनियों के बीच की दुश्मनी है। मैं राहुल से कहूंगा थोड़ा बड़ा बनिए। अब आप बाबा नहीं हैं। आप कांग्रेस के अध्यक्ष हैं और देशहित के बारे में सोचें।' उन्होंने कहा; 'राफेल कंपनी ने भारत की जिन 100 कंपनियों को ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट दिये उनमें से सिर्फ 800 करोड़ रुपये का काम अनिल अंबानी की कंपनी को विमानों के पुर्जे बनाने के लिए दिया गया।'   'रॉबर्ट वाड्रा मॉडल ऑफ डेवलपमेंट यह पूछे जानेपर कि पिछले पांच साल में मोदी सरकार ने जमीन सौदे को लेकर रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की, कानून मंत्री ने कहा; 'बीकानेर और हरियाणा में वाड्रा की संपत्ति जब्त हुई, ईडी और इनकम टैक्स अपना काम कर रहे हैं और वो (वाड्रा) बेल लेने की कोशिश कर रहे हैं। वाड्रा ने तीन साल से हाईकोर्ट से स्टे ले रखा था। ये है 'रॉबर्ट वाड्रा मॉडल ऑफ डेवलपमेंट'। 7-8 लाख रुपये देकर जमीन खरीदिये और तीन साल में आपकी संपत्ति सात सौ करोड़ रुपये की हो जाएगी, कृषि जमीन को कमर्शियल जमीन बनाकर।'   मजबूत सरकार चाहिए, मजबूर सरकार नहीं प्रसाद ने महागठबंधन पर हमला बोलते हुए कहा; '2019 का भारत 90 के दशक का भारत नहीं है। वी.पी सिंह 9 महीने प्रधानमंत्री रहे, चंद्रशेखर 4 महीने, देवगौड़ा 9 महीने और गुजराल 8 महीने प्रधानमंत्री रहे। अब देश स्थायित्व चाहता है, मजबूत सरकार चाहिए, मजबूर सरकार नहीं।'



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here