अमेरिका-ब्रिटेन समेत कई देशों को 3000 मीट्रिक टन प्लास्टिक कचरा वापस भेजेगा मलेशिया

0
5





कुआलालंपुर.मलेशिया अब अमीर देशों के लिए डंपिंग ग्राउंड नहीं बनेगा। पर्यावरण मंत्री यो बी यिन ने कहा है कि अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया समेत अन्य देशों को तीन हजार मीट्रिक टन प्लास्टिककचरा वापस भेजा जाएगा। इसमें ऐसा प्लास्टिक वेस्ट शामिल है, जो रिसाइकिल नहीं किया जा सकता है।उन्होंने पत्रकारों को पोर्ट परकचरे का ढेर भी दिखाया।

पर्यावरण मंत्री ने कहा कि मलेशिया में अवैध तरीके से दूषित कचरे से भरे 60 कंटेनर लाए गए हैं, इनमें से 10 को दो हफ्ते में वापस उनके देश भेज देंगे। इस कचरेमें ब्रिटेन केकेबल्स, ऑस्ट्रेलिया के दूध के कार्टन्स, बांग्लादेश से भेजी गईं कॉम्पैक्टडिस्क शामिल हैं। उन्होंने पत्रकारों को अमेरिका, कनाडा, जापान, सऊदी अरब और चीन के इलेक्टॉनिक और घरेलू अपशिष्ट पदार्थों को दिखाया।

फिलीपींस ने कनाडा को युद्ध की चेतावनी दी थी

अप्रैल मेंफिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने भी कनाडा को चेताया था। उन्होंने कहा था कि अगर कनाडा ने अपना कचरा वापस नहीं लिया तो वह उसके साथ युद्ध छेड़ देंगे। दरअसल, 2013 और 2014 में कनाडा ने रीसाइकलिंग के लिए कचरे के कुछ कंटेनर फिलीपींस भेजे थे। फिलीपींस का आरोप था कि इन कंटेनरों में जहरीला कचरा भरा था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


प्रतीकात्मक फोटो।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here