नियमों में 13 लाख रुपए तक की छूट थी, पेंशन से ज्यादा बचाने पर महिला के 24 लाख रु. जब्त

0
4





लंदन. इंग्लैंड के चैंबरशायर की रहने वाली 86 साल की बुजुर्ग महिला के करीब 24 लाख रुपए (28 हजार पाउंड) सिटी काउंसिल ने जब्त कर लिए हैं। सुनने में अक्षम मैरी मोर्ले को 1989 में रिटायर होने के बाद से हर हफ्ते करीब साढ़े बारह हजार रुपए (149.54 पाउंड) सरकारी पेंशन मिलती है। उसने इसमें से बचा-बचाकर यह रुपए जमा किए थे, ताकि जरूरत पड़ने पर किसी पर बोझ न डाला जाए। लेकिन, नियमों के तहत घर का लाभ ले रहे लोग करीब साढ़े तेरह लाख रुपए (16 हजार पाउंड) से अधिक जमा नहीं कर सकते।

मैरी मोर्ले के 60 साल के बेटे डेविड ने बताया कि उसकी मां अपनी सारी जिंदगी बचत करने वाली रहीं, लेकिन काउंसिल के इस कदम से वह रातोंरात डिप्रेशन में आ गई हैं। इस उम्र में अधिकतर लोग अकेले होते हैं और उनके सामने कभी भी स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत आ सकती है। इसलिए वे अपनी मामूली पेंशन में से थोड़ा-थोड़ा जोड़कर बुरे वक्त के लिए रखते हैं। इसके लिए उनको तय बचत सीमा को पार करने का दोषी मानना वास्तविकता को नजरअंदाज करना है।

6 महीने बाद अपील नामंजूर
सिटी काउंसिल ने पिछले साल जनवरी में मैरी मोर्ले को बताया कि उन्होंने 32 हजार पाउंड जमा कर लिए हैं, जो निर्धारित सीमा से दोगुने हैं। इसकी वजह से उनको मिलने वाले हाउसिंग बेनिफिट और टैक्स समर्थन को रोका जा रहा है। उनसे कहा गया कि उन्होंने काउंसिल से 12 हजार पाउंड का अधिक लाभ ले लिया है। उनके परिवार ने इसके खिलाफ मार्च 2018 में अपील की पर छह महीने बाद उनकी अपील को नामंजूर कर दिया गया।

कोर्ट में चुनौती देने रुपए नहीं बचे
यही नहीं काउंसिल ने कहा कि उनसे गणना में गलती हुई है और अधिक ली गई राशि 22 हजार पाउंड होती है। इसके बाद उन्होंने इसे फिर बढ़ाकर 23 हजार और बाद में 28 हजार पाउंड कर दिया। मैरी मोर्ले अब इसे कोर्ट में ले जाने की तैयारी कर रही हैं पर उनके पास इसके लिए धन नहीं है, क्योंकि उनके सारे धन को काउंसिल ने जब्त कर लिया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


मैरी मार्ले।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here